दिल्ली में डीडीए आवास योजना के लिए इन आठ बैंकों से फॉर्म प्राप्त करें

5 months ago sarkariadmin 2

दिल्ली में नई डीडीए आवास योजना के लिए इन आठ बैंकों से फॉर्म प्राप्त करें

डीडीए, जो एमसीडी चुनावों के बाद अपनी नई आवास योजना लॉन्च करेगा, ने आवेदन और बुकिंग प्रक्रिया में मदद के लिए आठ बैंकों को शामिल किया है।
दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने अपनी नई डीडीए आवास योजना के लिए आठ बैंकों को शामिल किया है जो कि दिल्ली में नगर निगम चुनाव खत्म होने के बाद शुरू होने की उम्मीद है।

डीडीए हाउसिंग स्कीम के लिए फॉर्म प्राप्त करने के लिए आठ बैंकों की सूची

डीडीए हाउसिंग स्कीम के लिए फॉर्म

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि डीडीए ने इस योजना के लिए आठ बैंकों – पांच निजी और तीन सरकारों के साथ करार किया है। ये बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा, यस बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीबीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक और एचडीएफसी बैंक हैं।

नया साल का आवास बोनान्ज़ा – यहां यह बताया गया है कि डीडीए आवास योजना के तहत दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में जमीन मालिकिंग एजेंसी क्या पेशकश कर रही है, जिसकी लॉन्च की तारीख घोषित करने की वजह से घोषित नहीं हुई हैडीडीए आवास योजना

DDA-Housing-Banks
फॉर्म केवल दिल्ली में इन बैंकों की चयन शाखाओं में ही उपलब्ध होंगे।

डीडीए के सूत्रों ने बताया कि

  • बैंक ऑफ बड़ौदा की 99 शाखाएं,
  • यस बैंक के 48,
  • एक्सिस बैंक की 118
  • आईडीबीआई बैंक की 84
  • कोटक महिंद्रा बैंक के 50
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के 29
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के 28
  • और एचडीएफसी के 6 बोर्ड पर होगा

चूंकि डीडीए खरीदारों को ऑनलाइन फ्लैट बुक करने की पेशकश कर रहा है, इसलिए ये बैंक ऑनलाइन लेनदेन के लिए गेटवे प्रदान करेंगे। असफल आवेदकों के लिए वापसी भी इन बैंकों द्वारा नियंत्रित किया जाएगा धनवापसी या पैसे के हस्तांतरण के मामले में केवल इलेक्ट्रॉनिक मोड का उपयोग किसी भी पेपर लेनदेन के साथ नहीं किया जाएगा।
डीडीए ने यह भी निर्णय लिया है कि अगर खरीदार फ्लैटों के कब्जे को लेने से इनकार करता है तो उनके पास ‘आत्मसमर्पण’ का विकल्प नहीं होगा। जमीन मालिक एजेंसी पूरे पंजीकरण धन जब्त कर देगा, जो एचआईजी और एमआईजी फ्लैट्स के लिए 2 लाख रुपये और एलआईजी और जनता फ्लैट्स के लिए 1 लाख रुपये का भुगतान करेगा।

वरिष्ठ अधिकारियों को लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल द्वारा निर्देश दिए गए हैं, जो डीडीए के प्रमुख हैं, यह सुनिश्चित करने के लिए कि नई आवास योजना के तहत फ्लैट खोलने से पहले पर्याप्त सार्वजनिक परिवहन कनेक्टिविटी और अन्य सेवाएं उपलब्ध हैं।
परियोजना के तहत प्राधिकरण 13,000 फ्लैटों की पेशकश करेगा जैसे सरिता विहार, जसोल, द्वारका, पीतमपुर, सुखदेव विहार, नरेला, रोहिणी, जहांगीरपुरी, लोकनायकपुरम, दिलशाद गार्डन, पश्चिम विहार, बिंदापुर और मुखर्जी नगर।

ये सभी फ्लैट वास्तव में पिछली योजनाओं में दिए गए थे, लेकिन बाद में खराब निर्माण, बुनियादी सुविधाओं और अन्य सुविधाओं के कारण आबंटियों ने आत्मसमर्पण कर दिया था। कुल 11,544 फ्लैटों को आत्मसमर्पण कर दिया गया था या विभिन्न कारणों से आवंटन रद्द कर दिया गया था। अधिकांश फ्लैट एक बेडरूम, हॉल और रसोईघर (बीएचके) थे।